Tag Archives: romance

Quote

In order to feel perfect Absence, one should measure the Distance first

I realize the power of missing someone, how does the absence of my hubby creates certain feelings, it never happened before where he had to go for 3 – 4 days office tour, and only now am able to feel and realize the depths of emotions where i long for him so much and never ever realized that he is absent everyday for 8 to 9 hours and comes back home only after office hours. Though he being there in office all day and very much near to me, i can still  have this presence of him, thinking that he is just a few miles away and that’s all that puts to rest my clumsy feelings.

And but now i feel that absence doesn’t matter much what matters is the distance that separates the two of us, the feeling that am i be able to reach him or not, and that there are thousands of miles between us..and oh ! he is so far away, creates more emotions and more feelings inside me. 

In order to fee…

Advertisements

Love For He’s Her

Standard

तुम जी सकोगे कैसे, किसी को दुःख देकर ,

 

की तुम जी सकोगे कैसे, किसी को दुःख देकर

और मन में यह राज़ कैसे जीयोगे साथ लेकर

 

की ज़िन्दगी युही नहीं, बीत जाती है बिताने भर से,

अफ़साने छुप नहीं जाते, ज़माने से नज़रे चुरालेने में

 

अब तो गैरो की बाँहों में भी ले लेते होगे तुम पनहा

जला लेते होगे शाम ऐ महफ़िल में, अपनी कोई नयी शमा

 

अफ़सोस कुछ भी नहीं तेरे जीने के ढंग से मुझे

पर जलन है की, दर्द लेके भी, क्यूँ याद है तू मुझे

 

ज़िन्दगी में बस और कुछ नहीं चाहत तुझको लेकर

बस परवाह है उस शमा की जो होगी तेरी सेज पर

 

फिकर है उस ओज की जो बुझती होगी हर लम्हा

दुःख देकर जीए तू, क्यूँ होता नहीं खुद फ़ना

 

Sher o Shayari

Standard

अर्ज़ है ..

 

लबो की यह तमन्ना है ,

की लफ्जों में नहीं रुकना,

यह चाहत है लबो की अब

इन्हें युही नहीं थमना

 

की यह हकीक़त है सुनने में

लगेगा  तुमको अफसाना

मोहब्बत में यूँ ठहरे है

लगे हर तरफ विराना

 

क्यूँ चाहत में खोये रहते

समझ में यह नहीं आता’

क्यूँ हर बेरंग सी  मेहफिल में

सजने  लगे  कोई तराना

 

हमे महसूस करना है

यह मन क्यूँ बहकता है

की हर साज़ में यह दिल

जाने क्यूँ महकता है
यह मोहब्बत है मोहब्बत है

या कोई और फ़साना

बिना सोचे या  समझे ही

नहीं बनता कोई तराना